Sonia Gandhi CWC Meeting Update; Congress President Attacks On Narendra Modi Govt Over India Covid Situation | सोनिया का आरोप- सुझाव देने पर विपक्ष का मजाक उड़ाते हैं मंत्री, कांग्रेस शासित राज्यों से भेदभाव कर रही सरकार

0
74

  • Hindi News
  • National
  • Sonia Gandhi CWC Meeting Update; Congress President Attacks On Narendra Modi Govt Over India Covid Situation

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली9 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

कोरोना महामारी के कारण देशभर में बिगड़ती स्थितियों पर शनिवार को कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक हुई। मीटिंग में पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी ने केंद्र सरकार पर जमकर हमला बोला। सोनिया ने कहा कि संक्रमण की पहली वेव के बाद केंद्र सरकार को आज एक साल का पूरा समय मिला, लेकिन सरकार ने मेडिकल सुविधाओं को ठीक करने के बजाए सिर्फ राजनीति की।

कांग्रेस शासित राज्यों के साथ भेदभाव का आरोप
कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने गैर भाजपाई राज्यों के साथ भेदभाव का भी आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेसी मुख्यमंत्रियों और कांग्रेस के सहयोगी मुख्यमंत्रियों ने कई बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके विभागीय मंत्रियों को पत्र लिख कर आवश्यक सामानों की मांग की है, लेकिन केंद्र सरकार ने चुप्पी साध रखी है।

कई राज्यों में वैक्सीन नहीं है, वेंटिलेटर नहीं है, ऑक्सीजन नहीं है। ये भी देखने में आया है कि कुछ राज्यों को प्राथमिकता के आधार पर ट्रीट किया जा रहा है। यह भेदभाव अच्छा नहीं है।

सोनिया ने कहा कि देश में कोरोना का पहला केस पिछले साल 30 जनवरी को आया था, उसके बाद सरकार के पास एक साल का समय था, लेकिन सरकार ने व्यवस्थाएं ठीक नहीं कीं। विपक्ष के सुझाव पर उनके मंत्री उल्टा हमला बोलते हैं।

लाइफ सेविंग मेडिसिन से GST हटाए सरकार
कांग्रेस ने सवाल खड़ा करते हुए सरकार से पूछा है कि रेमडेसिविर जैसी लाइफ सेविंग मेडिसिन और मेडिकल ऑक्सीजन पर 12% जीएसटी क्यों वसूली जा रही है? वहीं कोरोना से लड़ने के लिए आवश्यक इक्विपमेंट जैसे ओक्सीमीटर और वेंटिलेटरों पर 20% GST क्यों वसूली जा रही है। उन्होंने लॉकडाउन में बेरोजगार हुए गरीबों को हर महीने छह-छह हजार रुपए दिया जाए।

वैक्सीन के निर्यात पर सवाल उठाया
उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लिखे पत्र का उल्लेख किया और आरोप लगाया कि कई जगहों पर टीकों, ऑक्सीजन और वेंटिलेंटर की कमी हो रही है, लेकिन सरकार चुप्पी साधे है। वैक्सीन के निर्यात पर सवाल उठाते हुए सोनिया गांधी ने कहा कि क्या टीकों के निर्यात को रोककर अपने नागरिकों की रक्षा को प्राथमिकता नहीं दी जानी चाहिए।

सरकार को टीकाकरण के लिए अपनी प्राथमिकता पर पुनर्विचार करना चाहिए और आयुसीमा को घटाकर 25 साल करना चाहिए। अस्थमा, मधुमेह, किडनी और लीवर संबंधी बीमारियों से पीड़ित सभी युवाओं को टीका लगाया जाना चाहिए।

इस बीच राहुल गांधी ने कोरोना संक्रमण से हो रही मौतों और आंकड़ेबाजी पर सवाल उठाया है। उन्होंने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर लिखा, श्मशान और कब्रिस्तान के नाम पर वोट मांगने वाले लोगों ने अपना वादा पूरा कर दिया। उनका इशारा भाजपा की ओर था।

खबरें और भी हैं…

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here