West Bengal Assembly Election 2021 Live Update | Mamata Banerjee, Shuvendu Adhikari, TMC vs BJP, Nandugram Assembly Election | ममता बोलीं- मोदी-शाह की सिंडिकेट सेंट्रल एजेंसी से विपक्ष को डरा रही; शुभेंदु ने कहा- कोयला घोटाले के 900 करोड़ दीदी के भतीजे के पास गए

0
62

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोलकाता8 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

बंगाल के सियासी घमासान में जुबानी जंग तेज हो गई है। रविवार को तृणमूल कांग्रेस और भाजपा ने एक-दूसरे पर जमकर निशाना साधा। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने हावड़ा में रैली के दौरान कहा कि मोदी सिंडिकेट-1 और अमित शाह सिंडिकेट-2 हैं। दोनों सेंट्रल एजेंसियों को अभिषेक ( ममता के भतीजे), सुदीप और स्टालिन की बेटी के घर भेज रहे हैं। विपक्ष को डराने की कोशिश कर रहे हैं। चुनाव के दौरान पुलिस ऑफिसर्स के तबादले किए जा रहे हैं।

ममता पर पलटवार करते हुए भाजपा नेता शुभेंदु अधिकारी ने राज्य सरकार पर बड़े अरोप लगाए। उन्होंने कहा कि कोयला घोटाले में बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और राज्य सरकार की मिलीभगत साबित हो चुकी है। घोटाले के 900 करोड़ ममता के भतीजे अभिषेक बनर्जी के पास गए हैं। प्रेस कॉन्फ्रेंस में शुभेंदु के साथ दिनेश त्रिवेदी और बीजेपी के केंद्रीय सह प्रभारी अरविंद मेनन भी मौजूद थे।

ममता ने भाजपा पर साधा निशाना
1. केंद्र सरकार पर झूठ बोल रही

भाजपा किसानों को पैसे देने के बड़े-बड़े दावे कर रही है। मैंने सरकार को लाभार्थियों की लिस्ट भेजी थी। फिर उन्होंने पैसे क्यों नहीं भेजे। उनके सारे दावे झूठे हैं। वे सिर्फ चुनाव जीतने के लिए खोखले दावे कर रहे हैं।

2. यूपी-बिहार के गुंडों को बंगाल भेज रही BJP
कुछ गुजराती उत्तर प्रदेश और बिहार से गुंडे भेजकर बंगाल पर कब्जा करना चाहती है। हम बंगाल को गुजरात की तरह नहीं बनने देंगे। भाजपा यहां सांप्रदायिक तनाव पैदा करना चाहती है। हम उन्हें उनके मकसद में कभी कामयाब नहीं होने देंगे।

ऑडियो टेप के जरिए शुभेंदु का पलटवार
शुभेंदु ने एक ऑडियो टेप का भी जिक्र किया, जिसमें घूस लेने देने की कथित बात कही जा रही है। उन्होंने कहा कि TMC ने इस बार चुनाव में उम्मीदवार को गैर-अधिकारिक रुपए भेजे हैं, उसके सब आंकड़े हमारे पास हैं, सही वक्त पर हम उसका खुलासा करेंगे। ये रुपए भी गाय तस्करी, कोयला माफिया के जरिए बांटे गए थे।

शुभेंदु ने लगाए 3 बड़े आरोप
1. गिरफ्तार IC के करीबी ने भतीजे तक पैसे पहुंचाए

आज अशोक मिश्रा को गिरफ्तार किया गया है। वह पहले डायमंड हार्बर विष्णुपुर में IC था। इसमें केवल अशोक ही शामिल नहीं थे, बल्कि 90-95 अधिकारियों के साथ-साथ दो-चार IPS अधिकारी भी शामिल हैं। विनय ने भतीजे को तस्करी के 900 करोड़ रुपए दिए हैं। विनय TMC युवा मोर्चा के सचिव थे। IC प्रत्येक माह भाइपो को 40 करोड़ रुपए पहुंचाता था।

2. धृष्टराष्ट्र बन कर नहीं रह सकतीं ममता
तस्करी को लेकर इतनी बड़ी जालसाजी चल रही थी, लेकिन क्या सीएम को यह मालूम नहीं था? वह धृष्टराष्ट्र बन कर नहीं रह सकती हैं। मुख्यमंत्री होने की वजह से कार्रवाई करना उनकी जिम्मेदारी थी। वह गृह मंत्री भी थीं और उन्होंने भाइपो को अपना उत्तराधिकारी बनाया है।

3. पाप से दूरी बनाने के लिए TMC छोड़ी
शिक्षकों की नियुक्ति में भी घोटाला हुआ है। जिस तरह से IC को गिरफ्तार किया गया है और ऑडियो टेप सामने आए हैं। उससे सारी स्थिति साफ हो गई है और इसी कारण उन लोगों ने TMC ने नाता तोड़ा है, क्योंकि वे इस पाप के भागी नहीं बनना चाहते थे।

विनय मिश्रा के सहयोगी बांकुरा के IC गिरफ्तार
प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने रविवार को ही कोयला तस्करी घोटाला केस में बांकुरा के इंस्पेक्टर इंचार्ज (IC) अशोक मिश्रा को गिरफ्तार किया है। सूत्रों के मुताबिक, अशोक मिश्रा तृणमूल कांग्रेस के युवा नेता विनय मिश्रा के करीबी हैं, जो कोयले और मवेशियों की तस्करी के आरोपी हैं।
ममता के भतीजे अभिषेक बनर्जी के कथित करीबी विनय मिश्रा पशु तस्करी मामले में फरार आरोपी हैं। कोयला तस्करी मामले में सीबीआई पहले ही अभिषेक की पत्नी और अन्य रिश्तेदारों के बयान दर्ज कर चुकी है।

खबरें और भी हैं…

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here